ज़हर

तुम्हारे दिल का जो ज़हर है,
इसका बहुत बड़ा कहर है
छोटी छोटी चिंगारियां उठती है,
जो मिलकर एक दिन सब भस्म कर देती है ॥

तरकी

इस शहर की तरकी को देखो,
बच्चों के सपनों को तरकी की ज़हरीली हवा में डूबता हुआ मत देखो
देश में अच्छे दिन है कुछ लोगों की मौत को मत देखो,
हमको क्या फर्क पड़े किसी और की दुनिया उजड़ने से हमारी इंसानियत का नकाब देखो ।।

अंत

हर सांस अंत की शुरुवात है
आखरी सांस ही अंत है
कोई सांस का हिसाभ है?
सिर्फ कर्मो की निशांनी रह जाती है
वह भी कुछ सालों में कहीं गुम हो जाती है
शायद कुछ निशान रह जाते है
पर उनका भी मतलब बदल जाता है
फिर कर्म क्यों?
फिर जीतने की तमना क्यों?

Conformism

A human who finished top 3 in a school is a school level conformist
A human who graduates from a top university is an educated college level conformist
A human who takes up a job at a large company with salary is successful capitalist conformist
A human who gets married achieves marriage level conformism
A human producing child is parent level conformist
A human who eventually dies is a human conformist

Maut

यह मेरी लाश पड़ी हुई है ,
चंद लोगों की भीड़ जमा हुई है
अब सवालों के बोझ से हर सांस नहीं लेनी पड़ेगी ,
पर जवाबों से मुलाकात की गुंजाइश नहीं रही है
अब हसने के मौके भी नहीं रहे ,
न गम के आसूं बहाने के मौके रहे
अब हर रोज़ बैंक बैलेंस की चिंता नहीं करनी ,
बेचारे जो ज़िंदा है उनकी कश्मकश चलती रहेगी
यह कैसी दुनिया रची है इंसानों ने
एक को २५ करोड़ में नवाज़ा जाता है
पर जो दिन भर मेहनत करता है वह धुप में ही सोता है ।

आदत

मौत की सताने की आदत नहि, वो एक बार ही आति है
फिक्र करना मेरी फीत्रत है, रोज मुझे बेबस karne ki उस्की आदत है

Human

Human.Death.Human.Struggle.Human.Survival.Human.Loss.Human.Hope.Human.Strength.Human.Smile.

Human.Compassionate.Human.Happy.Human.Joy.Human.Alive!!

Human