तरकी

इस शहर की तरकी को देखो,
बच्चों के सपनों को तरकी की ज़हरीली हवा में डूबता हुआ मत देखो
देश में अच्छे दिन है कुछ लोगों की मौत को मत देखो,
हमको क्या फर्क पड़े किसी और की दुनिया उजड़ने से हमारी इंसानियत का नकाब देखो ।।